बुधवर पेठे का चौंकाने वाला सच आप नहीं जानते होंगे, जो पुणे में .. के लिए प्रसिद्ध है

0
163

महाराष्ट्र के पुणे में बुधवार पे=ठे का हम कड़वा सच जानने जा रहे हैं। इस व्यवसाय में एशिया में नंबर 2 पर स्थित पुणे का बुधवरपेठ महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी माना जाता है।

बालनाथ विश्वनाथ पेशवा ने पुणे में कई बस्तियों का निर्माण किया, जिनमें से एक बुधवा=रपेठ है। पुणे और महाराष्ट्रसे प्रसिद्ध, श्री। दगडू शेठ गणपति का मंदिर भी इसी क्षेत्र में पड़ता है। इसके अलावा, बुधवर पेठे के पास महात्मा फुले भाजी मंडई भी स्थित है। हालाँकि, बुधवर पे=ठ उस व्यवसाय के लिए प्रसिद्ध है, बुधवर पेठ पुणे में सबसे बड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार है।

आप नहीं जानते होंगे कि बुधवर पेठ दुनिया में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला स्थान है। दोस्तों, बुध वर पेठ पहले ऐसा नहीं था, जब अंग्रेजों ने अपने सैनिकों के शारी रिक आराम के लिए इसे बुध वरपेठ में स्थापित किया था। तब से, बुधवर पेठ पुणे में उसी व्यवसाय के लिए प्रसिद्ध है।

बुधवर पेठे में ज्यादातर लड़ =कियां या महि लाएं नेपाल की हैं। लेकिन तब देश के अन्य हिस्सों से महिलाएं और लड़कियां इस व्यव साय में शामिल हुईं। यह व्यवसाय भारत में प्रतिबंधित है। लेकिन निश्चित और सार्वजनिक स्थानों पर यह व्यवसाय बहुत बड़े पैमाने पर चलता है। और किसी दिए गए क्षेत्र में इसकी कोई बाधा नहीं है।

दोस्तों, आप बुधवर पेठे का एक बहुत ही विशेष रूप देख सकते हैं। सुबह से लेकर शाम तक, बुधवर पेठे में लोगों की भीड़ किताबें और इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदने के लिए मौजूद रहती है। लेकिन जैसे-जैसे सूर्य ढलता जाता है, बुधवार पेठ एक अलग रूप में प्रकट होता रहता है। जो महिलाएं वहां व्यापार करती हैं, वे बुड्ढे पेठे में शाम के समान सक्रिय रहती हैं। कोई अपने चेहरे पर मेकअप लगाता है, तो दरवाजे पर बालकनी से अपने ग्राहकों के लिए आकर्षक कपड़े और इशारे करता है। बुधवर पेठ में रात भर कारोबार चलता रहता है।

दोस्तों, पुणेमें बुधवर पेठ विश्व प्रसिद्ध है। क्योंकि 2008 में, माइक्रो सॉफ्ट के मालिक और उस समय दुनिया के सबसे अमीर आदमी बिल गेट्स ने बुधवार को पेठे का दौरा किया। उस समय, बिल गेट्स ने व्यापार में कई महिलाओं से बात की। उन्होंने वहां की महिलाओं से एच * आईवी के बारे में बात की।

बुधवार को पेठेमें कारोबार चलाने वाली महिलाओं को बिल गेट्स ने 2 सौ 200 मिलियन का दान दिया। व्यापार करने वाली महिलाओं में जागरूकता और स्वास्थ्य देखभाल के लिए संगठन द्वारा किए गए एक सुरक्षा सर्वेक्षण के अनुसार, बुधवर पेठे में 440 महिलाएं व्यापार करती हैं और 7,000 से अधिक महिलाएं व्यापार करती हैं।

अब दुनिया 21 वीं सदी में है। आजकल, फेसबुक, व्हाट्सएप और कुछ अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से यह व्यवसाय बहुत तेजी से चल रहा है। कानून के अनुसार, किसी सार्वजनिक स्थान पर 200 मीटर के दायरे में व्यापार में शामिल होना अपराध है। 18 साल से कम उम्र की लड़कियों के साथ से*(क्स) करना भी अपराध है।

ऐसा करने पर कारावास और जुर्माना हो सकता है। पुणे जिला परिषद ने बुधवार पेठे में मुफ्त सह-डो का वितरण किया। 1989 से, वह पुणे में एक ट्रस्ट के माध्यम से एक व्यावसायिक महिला के बच्चों के लिए एक अच्छी शिक्षा और अच्छे स्वास्थ्य के लिए काम कर रहे हैं। दोस्तों, इस बुधवार पेठे की सच्चाई यही थी जो अंग्रेजों के समय से चली आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here